Connect with us

BIHAR

बिहार में बेहतर होंगी 25 जिलों में ग्रामीण सड़कें, निर्माण के लिए 1239 करोड़ रुपये की मिली स्वीकृति।

Published

on

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत अगामी वर्ष तक बिहार राज्य में लगभग 270 किमी लंबाई में ग्रामीण सड़कों को बेहतर किया जायेगा। हालांकि इसको लेकर तैयारी भी शुरू हो चुकी है। बिहार रूरल रोड डेवलपमेंट एजेंसी ने PMGSY की सड़कों के मेंटेनेंस हेतु तगभग 1239 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की है। इसके तहत बिहार के 25 जिलों में सड़कों की मरम्मत होगी। बता दें कि अब निर्माण एजेंसी का चयन कर उसे सड़कों के मरम्मत की जिम्मेदारी सौंपी जायेगी।

मिली जानकारी के मुताबिक राज्य में PMGSY के तहत नई सड़कों के निर्माण व पुरानी सड़कों की मेंटेनेंस का काम प्रारंभ हुआ है। इसके तहत खराब सड़कों को पहले मोटरेबल बना दिया गया था। अब इन सड़कों के गड्ढे को भरने व अन्य सभी तरह से मरम्मत की जायेगी। साथ ही नये तरीके से इसकी पिचिंग भी होगी। हालांकि अगले महीनें तक इन सड़कों काे बेहतर बनाने का काम भी शुरू होने की संभावना है। साथ ही 2023 में इनका काम पूरा करने का टारगेटहै। साथ ही PMGSY फेज-3 में नई सड़कों के निर्माण के दौरान इसकी चौड़ाई 3.75 मीटर से बढ़ाकर 5 मीटर किया जायेगा।

इसका मुख्य उद्देश्य है यातायात सुविधा बेहतर करना और आर्थिक विकास में कृषि क्षेत्र के महत्वपूर्ण योगदान को बढ़ाना है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे फेज में 6162.50 किमी लंबाई में सड़क निर्माण सहित उनके चौड़ीकरण का टारगेट 2025 निर्धारित किया गया है। इनमें से 35 जिलों में लगभग 2172 किमी लंबाई में तकरीबन 280 सड़कों का निर्माण के लिए लगभग 1603 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके लिए डीपीआर भी बन गई है। और अब निर्माण भी शुरू होने वाला है।