Connect with us

BIHAR

न्यूयॉर्क के तर्ज पर बिहार के दरभंगा में 164 करोड़ की लागत से बन रहा तारामंडल, जानें कब तक पूरा होगा निर्माण।

Published

on

अब बहुत जल्द ही बिहार के दरभंगा जिले में बन रहे तारामंडल सह विज्ञान संग्रहालय के लोग दीदार कर सकेंगे। इसका निर्माण आधुनिक तरीके से कराया जा रहा है, जो पूरी तरह से न्यूयॉर्क मॉडल पर बेस्ड है। आपको बता दें कि यहां के कंसलटेंट न्यूयॉर्क के ही हैं। यह तारामंडल अपने आप में काफी अनोखा होगा। बता दें कि दरभंगा में निर्माणाधीन तारामंडल में 164 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

वहीं दरभंगा में बन रहे तारामंडल के प्रोजेक्ट इंजीनियर अब्दुल बारी ने बताया कि न्यूयॉर्क की तर्ज पर ही दरभंगा में तारामंडल का निर्माण किया जा रहा है और इसके कंसलटेंट न्यूयॉर्क से ही हैं। हालांकि यह भारत व बिहार का नंबर वन तारामंडल बनेगा। इस तरह मंडल में आधुनिकता का समावेशन किया जा रहा है, जिससे आस-पास के लोगों को काफी लाभ होने वाला है। प्रोजेक्ट इंजीनियर अब्दुल बारी ने कहा कि यहां तारामंडल के अतिरिक्त साइंस म्यूजियम भी बनाया जा रहा है जिससे यहां के बच्चों को भी काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

बच्चों को तारामंडल में साइंस से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त हो सकेगी और उन्हें साइंस के साथ अपने आगे की पढ़ाई में भी काफी सहयोग मिल सकती है। तारामंडल में बच्चों को अंतरिक्ष के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। उसके बारे में बताया जाएगा। साथ ही ग्रहों के और उपग्रहों के बारे में भी बच्चों को रोचक जानकारी मिलेगी। साथ ही, खगोलीय विद्या के बारे में भी उन्हें बताया जाएगा। दरभंगा में बनने वाला यह तारामंडल यहां के लोगों को विज्ञान संग्रहालय के साथ-साथ खगोलीय ज्ञान व तारों की सैर कराएगा।

बता दें कि इसके पहले फेज में 74 करोड़ की लागत से काम हो चुका है जबकि दूसरे फेज का काम चल रहा है। हालांकि उम्मीद की जा रही है कि दिसंबर से यहां लोग तारों की सैर कर सकेंगे। इस तारामंडल में इस्तेमाल होने वाले सामग्री को चंडीगढ़ से मंगवाया जा रहा है। तारामंडल घूमने आने वालों के लिए विशेष सुविधा का भी व्यवस्था हुआ है, जिसमें आपको तारामंडल के अंदर ही कैफेटेरिया की सुविधा दी जाएगी। साथ में पार्किंग से लेकर गार्डन तक की व्यवस्था जा रही है।