Connect with us

NATIONAL

रेल यात्रियों को बड़ी सौगात, अब स्टेशन से 20 किमी दूर से बुक कर सकेंगे अनारक्षित टिकट, जानें प्रक्रिया।

Published

on

रेल मंत्रालय ने गैर-उपनगरीय मार्गों के लिए यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप पर 20 किलोमीटर तक की दूरी से अनरिजर्व टिकट बुक करने की सर्विस का विस्तार करने का निर्णय लिया है। इसी वक्त उपनगरीय इलाकों में इस दूरी में बढ़ोतरी कर 5 किमी कर दिया गया है।

अगर बिना रिजर्वेशन यात्रा करना हो तो अनरिजर्व्ड टिकट खरीदने हेतु यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप एक बेहतरीन विकल्प है। इसके माध्यम से प्लेटफॉर्म टिकट तथा सीजन टिकट बुकिंग व रिनुअल की सुविधा मिलती है। रेल पैसेंजर्स के लिए राहत की बात है। रेल मंत्रालय ने गैर-उपनगरीय खंडों हेतु यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप पर 20 किलोमीटर तक दूरी से अनरिजर्वड टिकट बुक करने पर विस्तार करने का निर्णय लिया है। इसी दौरान उपनगरीय एरिया में इस दूरी में बढ़ोतरी कर 5 किलोमीटर कर दिया गया है।

इससे पूर्व, अनरिजर्व टिकट बुकिंग सिस्टम यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप के माध्यम से गैर-उपनगरीय क्षेत्रों में यात्रियों को केवर 5 किमी तक के रेंज में टिकट बुक करने की परमिशन दी गई थी। वहीं, उपनगरीय एरिया के लिए, यूटीएस ऑन मोबाइल ऐप के जरिए टिकट बुकिंग के लिए दूरी सीमा 2 किमी थी। अनारक्षित टिकट बुकिंग सिस्टम से संबंधित डिटेल्स के बारे में जानकारी के लिए www.utsonmobile.indianrail.gov.in पोर्टल पर जा सकते हैं। बता दें कि यूटीएस ऐप एंड्रॉएड तथा आईओएस दोनों के लिए एवलेबल है। ऐप को सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉर्मेशन प्रणाली ने बनाया है। इसके माध्यम से हार्ड कॉपी तथा पेपरलेस टिकट, दोनों पाने का आप्शन मिलता है। इस ऐप को अब हिंदी में उपयोग कर सकते हैं।

सबसे बड़ा लाभ तो यही है कि टिकट को खरीदने के लिए लाइन में लगने की आवश्यकता नहीं है। यह पेपरलेस सिस्टम है और वातावरण के अनुकूल है। ऐप से बुक टिकट को बगैर इंटरनेट कनेक्शन ऑफलाइन मोड में टीटीई को दिखा सकते हैं। आखिरी समय में सफर की योजना हो तो यह ऐप काफी मददगार साबित हो सकता है। यह ऐप पूरी तरह से कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देता है। डेबिट-क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग, वॉलेट, यूपीआई आदि तक के पेमेंट मोड को समर्थन करता है।

ऐप में 5 तरह की टिकट बुकिंग सुविधा मिलती है। क्यूआर बुकिंग, नॉर्मल बुकिंग, प्लेटफॉर्म बुकिंग, क्विक बुकिंग और सीजनल बुकिंग के लिए अलग अलग रेलवे स्टेशनों के बाहर क्यूआर कोड दिए होते हैं, जिन्हें स्कैन करने के बाद टिकट बुक कर सकते हैं। ऐप डाउनलोड के बाद कोई बुकिंग से पहले आपको पंजीयन करना होगा। अपनी जानकारी सब्मिट करके निबंधन करने के बाद लॉगिन करें। किसी तरह की बुकिंग के समय कन्फर्म टिकट के लिए आर-वॉलेट में टिकट के प्राइस का बैलेंस जरूर रखरखाव करें। पंजीयन करते जीरो बैलेंस का आर-वॉलेट बश जाता है, जिसे इंटरनेट बैंकिंग तथा दूसरे माध्यमों से रिचार्ज किया जा सकता है।